LAFZ – 8

खामोश लबों से चीखता हूँ मैं
क्या अजल से तयशुदा हूँ मैं ?

हर एक हर्फ में ये उलझन क्या है ?
क्यूँ हर इक हर्फ में फँसता हूँ मैं ?

क्या किसी सम्त चला ही नहीं ?
या बहुत दूर आ चुका हूँ मैं ?

बात दर बात कोई बात नहीं
तो क्या बेवजह परेशां हूँ मैं ?

मेरी बेचारगी सरापा ठहरी
ये किस मर्ज का मुब्तला हूँ मैं ?

किसी की राह देखनी है मुझे
तो इतना सा सिलसिला हूँ मैं ?

किसी मुल्क से इश्क हो मझे
किसी मुल्क का मुब्तना हूँ मैं ?

मेरी वफा उस मयार पे तय होगी
तो इस मयार पे बेवफा हूँ मैं ?

मुझपे आखिर ये इल्जाम क्यूँ हैं ?
ओह!तो बहुत सवाल पूछता हूँ मैं?

— शुभम्

अजल:- From beganing
तयशुदा :- Fixed
हर्फ्:- word
सम्त:- Direction
सरापा:-top to bottom
मुब्तला:-patient
मर्ज:-diseases

मुब्तना:-Base
मयार:-scale


Copyright © Shubham Thakur

Advertisements

LAFZ – 7

अदम न होता तो क्या इबादत होती
गरज न होती क्या शराफत होती

हाँ हम हैं मता-ए-हुस्न पे कुरबाँ
जो हवस न होती तो क्या मुहब्बत होती

कुराँ था उसकी बाहों मे वरना
सुब्ह जाने क्या उसपे तोहमत होती

सांग हमने भी गर उठा लिये होते
फिर शहर की क्या सूरत होती

खैर है कि सबकी बहने है
जो न होती क्या दर्जा-ए-वहशत होती

वैसे तो अपनी दुश्मनी है
जो न होती तो रफ़ाकत होती?

‘शुभम्’ ये तो दौरे-इब्तदा है
वरना तो फिर कयामत होती

— शुभम्

इबादत -to worship
गरज-expectation of benifits
मता-ए-हुस्न -property of beauty
कुरां-kuran the holy book of islam

तोहमत -Blames
सांग-sword
दर्जा-ए-वहशत -degree of craziness

रफाकत-friendship
दौरे-इब्तदा – Phase of beganing


Copyright © Shubham Thakur

LAFZ – 6

उदू भी वही होगा जो उकदाकुशा होगा
शायद ये सुनकर तुम्हे भी रंज हुआ होगा

जिसकी खातिर उसने जग के शब की होगी
बुझा के शम्मा वही शख्स सो गया होगा

इल्जामों की सफ मे इक शिनाख्त है मेरी
अपना बता ए दोस्त तू किस जा खड़ा होगा

— शुभम्

Word Meanings:

उदू – Enemy
उकदाकुशा – Tie breaker
रंज-Anger
शब-Night
सफ-Queue
शिनाख्त – Identity


Copyright © Shubham Thakur

LAFZ – 6

बहुत होगा तो क्या होगा
ए अजनबी तू खफा होगा

किसी एतमादे-गुमां से बेहतर
मै सो जाऊं तो अच्छा होगा

ये सच मैने मान लिया
तुमने पहले कभी कहा होगा

अब मुझे याद तो नही लेकिन
तुमसे ताल्लुक कभी रहा होगा

ए हाल तेरी जरूरत नहीं
कोई माजी मे जी रहा होगा

ये लम्हा भी खूबसूरत है
अब न जाने मेरा क्या होगा

— शुभम्

Word Meanings:

एतमादे-गुमां -illusion of trust
हाल-present
माजी -past


Copyright © Shubham Thakur

LAFZ – 5

किरदार बदल दुं जमीं को आसमाँ कर दुं
मुकफ्फल कातिल को बेअमाँ कर दुं
मेरा ये शौक मै नई दुनिया गढुं
किसी का कत्ल करुं और इब्तदा कर दुं
मुझे तो लुत्फ उठाना है उजाले का
शहर जला कर मुहल्ले फिरोजां कर दुं
उनका फरमान जिब्ह कर देंगे मन्सूर की मानिन्द
और मुझे भी जिद मै खुद को खुदा कर दुं
वो ख्वाब बेचने आया है नई तरकीबें लेकर
मुझको मिल जाए तो हर तरकीब रायगां कर दुं
निगारो-हुस्न पे वो बहुत गुरूर करता है
जी मे आता है उसे हुस्न की दुकां कर दुं

— शुभम्

मुकफ्फल -being in prison
बेअमाँ -unprotected
इब्तदा -to start
फिरोजां -huge amount of light
जिब्ह -to cut
मानिन्द-as like
रायगां -default / waste
निगारो-हुस्न – beuty of body
दुकां – shop


Copyright © Shubham Thakur

LAFZ – 4

तनहाई का रंग लेकर फिर एक शाम आई
फिर याद मुझको आया कि याद तेरी आई
तकमील मुझमें कोई तो फर्क क्या तुम्हें है
मुकम्मल जहाँ है तेरा मुकम्मल तेरी खुदाई
मेरी मस्ती का तकाजा सरमाया मेरे गम का
किस बात का ये चर्चा ये किस बात की लड़ाई
ए दिल-ए-जूद-फरामोश मेरे अहसासों की सदाएं
जो तू अपने गम से निकले तो देंगी तुझे सुनाई
गुरेज क्या करें तफ्तीशे-खाक से हम
किसने हरम जलाया किसने लौ बुझाई
रश्क कर रहा हुँ क्या करामात उसके
क्या हश्र है जगाया क्या खलबली मचाई
तेरी फुर्कत और सितम ये कि मै जिन्दा हुँ
मेयार-ए-गम पे ठहरी बड़ी आसाँ तेरी जुदाई

— शुभम्

Note:

तकमील – something missing (lack of something )

सरमाया -property

तकाजा- Demand
दिल-ए-जूद फरामोश- the heart which foget easily

सदाएं – Sound of wishes
गुरेज-to ignore
तफ्तीश-ए-खाक-
Investigation of ashes

रश्क- jealous
फुर्कत-separation
मेयारे-गम- scale of sadness

हरम- mosque


Copyright © Shubham Thakur

LAFZ – 3

एक शिकवा हो तो कहुँ
खैर अब दिल मेरा बरहम नही है
जर्फ-ए-दिल कभी और आजमा लेना
मियां ये तेगबारी का मौसम नहीं है
मेरी बदनामी जा-ब-जा ठहरी
पर तेरे चर्चे भी कम नही है
कौन है जो ये तफ्तीश करे
कि कोई आदम आदम नही है
जो मुहल्ले मुख्तलिफ हैं फिर
क्युं इन पर कोई परचम नहीं है

— शुभम्

Notes:

बरहम- sad

जर्फ-ए-दिल – capacity of tolerance of heart
तेगबारी – to produce swords

जा-ब-जा – everywhere
तफ्तीश – investigation

मुख्तलिफ – different
परचम – flags


Copyright © Shubham Thakur